Welcome
मुखपृष्ठ श्री अमरनाथ यात्रा 2021 श्री अमरनाथ यात्रा 2021 28 जून 2021 को शुरू होगी और पंजीकरण 1 अप्रैल 2021 से

श्री अमरनाथ यात्रा 2021 28 जून 2021 को शुरू होगी और पंजीकरण 1 अप्रैल 2021 से

जम्मू (जम्मू-कश्मीर), 13 मार्च, 2021: श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) के चेयरमैन उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने आज राजभवन में 40वीं बोर्ड बैठक की अध्यक्षता की। यात्रा 2021 के प्रारंभ की अवधि और तिथि के संबंध में बोर्ड ने तीर्थयात्रियों की सुरक्षा और संरक्षा की सबसे बड़ी चिंता को ध्यान में रखते हुए निर्णय लिया कि हिंदू कैलेंडर के अनुसार अशाके चतुर्थी के पावन दिन 28 जून, 2021 को 56 दिनों की यात्रा शुरू होगी और 22 अगस्त, 2021 को श्रावण पूर्णिमा (रक्षा बंधन) पर समाप्त होगी।

बोर्ड की ओर से यह भी बताया गया कि इस वर्ष की यात्रा सरकार द्वारा बनाए गए सीओवीईड-19 एसओपी के अनुसार आयोजित की जाएगी। तीर्थयात्रियों का अग्रिम पंजीकरण 37 राज्यों और केंद्रों में स्थित पंजाब नेशनल बैंक, जम्मू-कश्मीर बैंक और यस बैंक की 446 नामित शाखाओं के माध्यम से 1 अप्रैल 2021 से शुरू होगा।

एसएएसबी दुनियाभर के श्रद्धालुओं के लिए सुबह और शाम की आरती का सीधा प्रसारण भी कर सकेगा। इसका सीधा प्रसारण उन लोगों के लिए वर्चुअल दर्शन का औजार है जो दुरूह श्री अमरनाथ यात्रा 2021 को शुरू करने में असमर्थ हैं। इसके अलावा, तीर्थयात्री श्री अमरनाथ यात्रा 2021 के बारे में वास्तविक समय की जानकारी प्राप्त करने और ऑनलाइन कई सेवाओं का लाभ उठाने के लिए गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध 'श्री अमरनाथजी यात्रा' ऐप डाउनलोड कर सकते हैं।

आज की बैठक में तीर्थयात्रियों और अन्य हितधारकों को यात्रा के सुचारू संचालन के लिए सुगम बनाने के लिए कुछ बड़े फैसले लिए गए । बोर्ड ने इस वर्ष की यात्रा के लिए यात्रियों की संख्या, तिथिवार और मार्गवार पंजीकरण की अनुमति दी जाएगी, इस पर विस्तार से विचार-विमर्श किया । यात्रा क्षेत्र में मौजूदा पटरियों और अन्य उपलब्ध अवसंरचना की वहन क्षमता को ध्यान में रखते हुए, बोर्ड ने दैनिक मार्गवार यात्री सीमा को 7500 प्रति दिन/मार्ग से बढ़ाकर 10,000 प्रति दिन/मार्ग करने का निर्णय लिया, जिसमें हेलीकॉप्टर से यात्रा करने वाले यात्रियों को छोड़कर तीर्थयात्रा के लिए अग्रिम पंजीकरण सुरक्षित करने की अनुमति दी जाएगी ।

उपराज्यपाल ने अखाड़ा परिषदों, आचार्य परिषदों को विशेष निमंत्रण जारी करने और साधु/संत समाज की सुविधा के लिए देश भर के प्रमुख धार्मिक स्थलों पर काउंटर स्थापित करने की संभावना तलाशने के भी निर्देश दिए ।

सभी आने वाले श्रद्धालुओं और सेवा प्रदाताओं को सर्वश्रेष्ठ श्रेणी की स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने पर विशेष जोर देते हुए उपराज्यपाल ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे दोनों यात्रा मार्गों पर वर्तमान स्वास्थ्य सुविधाओं को नवीनतम उपकरणों के साथ अपग्रेड करें और आपातकालीन मामलों को निपटाने के लिए चिकित्सा कर्मचारियों की संख्या में वृद्धि करें ।

संचार चैनल को मजबूत करने पर उपराज्यपाल ने पवित्र गुफा और यात्रा मार्गों के पार यात्रा शुरू होने से दो सप्ताह पहले दूरसंचार सेवाओं को चालू करने का निर्देश दिया ।  आधार शिविर और मार्गों के साथ-साथ बढ़ी हुई यात्रा की मात्रा के अनुरूप स्वच्छता क्षमता को उन्नत करने का भी निर्देश दिया गया।  बैठक के दौरान श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड ने पुजारीओं के लिए पारिश्रमिक मौजूदा 1000 रुपये प्रतिदिन से बढ़ाकर अगले तीन वर्षों के लिए 1500 रुपये प्रतिदिन करने को मंजूरी दी।

यात्रियों, सेवा प्रदाताओं के लिए समूह दुर्घटना बीमा कवर को भी 3 लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये और टट्टू के लिए 30,000 रुपये से बढ़ाकर 50,000 रुपये किया गया।  ऑनलाइन डिजिटल प्रणाली को मजबूत करने के लिए सेवाओं की आरएफआईडी ट्रैकिंग और प्रीपेड हायरिंग शुरू करने पर भी चर्चा हुई । बोर्ड ने इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया के माध्यम से व्यापक प्रचार-पत्र दिए जाने का निर्देश दिया, जिसमें इच्छुक यात्रियों को राज्य या केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा नामित डॉक्टरों/अस्पतालों द्वारा जारी निर्धारित अनिवार्य स्वास्थ्य प्रमाण पत्रों को समय पर सुरक्षित करने के लिए सूचित किया गया है जिसमें वे रहते हैं और उसके बाद ही निकटतम स्थित नामित बैंक से अग्रिम पंजीकरण प्राप्त करने के लिए आगे बढ़ेंगे जो तीर्थयात्री को यात्रा परमिट जारी करेगा जो निर्दिष्ट तिथि और मार्ग के लिए मान्य होगा ।

बोर्ड ने सीईओ को यह भी सलाह दी कि वे तीर्थयात्रा पर जाने से पहले सभी संभावित तीर्थयात्रियों से अपने डॉक्टरों से परामर्श करने की अपील करें । सीईओ यह भी व्यापक रूप से प्रचारित करेंगे कि 13 वर्ष से कम आयु के और 75 वर्ष से अधिक आयु के किसी भी व्यक्ति को तीर्थयात्रा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

लंगर संगठनों द्वारा प्रदान की गई महत्वपूर्ण सेवाओं की सराहना करते हुए बोर्ड ने यात्रा २०२१ के दौरान उनके निरंतर समर्थन की ओर देखा । पूर्व की भांति सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सहयोग और सहयोग से जागरूकता अभियान चलाया जाएगा और यात्रा से संबंधित सभी सूचनाएं बोर्ड की वेबसाइट (www.shriamarnathjishrine.com) पर रखी जाएंगी।

सीईओ, एसएएसबी ने बोर्ड द्वारा यात्रियों को सुविधाजनक बनाने के लिए की जा रही अन्य पहलों के बारे में भी अवगत कराया, जिसमें पहली बार 2.75 किलोमीटर लंबी बालटाल से डोमेल स्ट्रेच तक निशुल्क बैटरी कार सेवा शुरू करना शामिल है और इसके विपरीत। इसके अलावा बोर्ड मेटल एंड मिनरल ट्रेडिंग कॉरपोरेशन (एमएमटीसी) के जरिए 5 ग्राम और 10 ग्राम मूल्य वर्ग के चांदी के सिक्के जारी कर रहा है। यात्रा के दौरान पवित्र गुफा और श्राइन बोर्ड के कार्यालयों में तीर्थयात्रियों को ये सिक्के बेचे जाएंगे।

इस वेबसाइट का उपयोग करने का मतलब है कि आप हस की शर्तों को स्वीकार करते हैं
1998 से ऑनलाइन